मोटापे से परेशान? यहाँ जानिए 10 योग विशेषज्ञों की कारगर सलाह – Yoga for Weight loss in hindi

वजन घटाने के लिए 5 योग मुद्राएं ( Mudras For Weight Loss In Hindi )

1 जैसा कि हमने ऊपर चर्चा की कि प्राणायाम वजन घटाने में प्रभावी होता है, उसी तरह कुछ मुद्रा हैं जो कैलोरी जलाने में मदद कर सकती हैं।
 
मुद्रा हाथो की क्रिया है और इन्हे प्रभावी बनाने के लिए आप इनका  नियमित रूप से अभ्यास कर सकते  है । 
 

1) सूर्या या अग्नि मुद्रा ( Surya Mudra in Hindi )

Surya-Mudra-in-hindi
सूर्य मुद्रा
सूर्य मुद्रा अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करती  है और इस मुद्रा को करने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है। यह पाचन तंत्र और मेटाबॉलिज्म को बेहतर करने  में मदद करती  है और वजन को कम करती  है।
 

सूर्य मुद्रा कैसे करें ( How to Surya Mudra In Hindi )

1) किसी भी आरामदायक स्थिति में बैठे, आंखें बंद करे  और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखे 
2) रिंग फिंगर को हथेली की ओर मोड़ें और अब अपने अंगूठे से रिंग फिंगर की नोक को  पकड़ें।
3) हथेली को घुटनों या जांघों पर आरामदायक स्थिति में रखें।
4) इस मुद्रा को कम से कम 10 -15 मिनट धारण करें फिर अभ्यास करते करते थोड़ा  समय बढ़ाएं।
 
 
इस मुद्रा में उत्तजित गर्मी कैलोरी को बर्न करने में मदद करती है।

2) प्राण मुद्रा ( prana mudra in Hindi )

Prana-Mudra-in-hindi
प्राण मुद्रा
प्राण मुद्रा महत्वपूर्ण मुद्राओं में से एक है क्योंकि यह शरीर में ऊर्जा को सक्रिय करने में मदद करती  है। मूलचक्र यानी मूलधारा चक्र प्राण मुद्रा के अभ्यास से सजीव हो जाता है और यह पूरे शरीर में ऊर्जा फैलाता है।
 
आम तौर पर आपको बेहतर परिणाम के लिए प्राणायाम के साथ इसे करना चाहिए।
 

प्राण मुद्रा कैसे करें ( How to Prana Mudra In Hindi )

1) किसी भी आरामदायक स्थिति में बैठे, आंखें बंद करे  और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखे 
 
2) अब अंगूठे की नोक को एक साथ रिंग फिंगर और छोटी उंगली की नोक से मिलाएं।
 
3) बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए कम से कम 20 मिनट के लिए इसे पकड़ें।

3) व्यान मुद्रा (Vaayan Mudra hindi )

Vaayan-Mudra-hindi
व्यान का अर्थ है वायु, यह शरीर में ‘वैत ( Vaat ) ‘ को संदर्भित करता है जिसे वायु तत्व के रूप में पहचाना जाता है। शरीर पर वायु तत्वों का प्रभाव भारी होता है और सही तरीके से अभ्यास करने पर कई लाभ प्राप्त होते हैं।
 
यह मुद्रा तंत्रिका तंत्र ( Nervous system ) को मजबूत करती है , जिससे आप अधिक आत्म-जागरूक होते हैं और आपको वजन कम होता हैं।

व्यान मुद्रा का कैसे अभ्यास करे ( How to vaayan Mudra in hindi )

1) किसी भी आरामदायक स्थिति में बैठे, आंखें बंद करे  और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखे 
2) अब अपनी इंडेक्स फिंगर और मिडिल फिंगर की नोक को अपने अंगूठे की नोक पर रखें।
3) अन्य दो उंगलियों को सीधा रखें
4) इस मुद्रा को कम से कम 15-20 मिनट तक धारण करें।
 
 
वजन घटाने के साथ-साथ वैयान मुद्रा शरीर और दिमाग को भी रेगुलेट करने में मदद करती है।

4) कफ़ नाशक मुद्रा ( Kapha Nashak Mudra in Hindi )

पिट्टा और कफ़ दो तत्व हैं जो क्रमशः अग्नि और पृथ्वी का प्रतिनिधित्व करते हैं। कफ़ नाशक मुद्रा मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के माध्यम से अग्नि उत्पन्न करके पाचन तंत्र को प्रभावी बनाती है। 

कफ़ नाशक मुद्रा का अभ्यास कैसे करें ( How to Kapha Nashak Mudra In Hindi )

1) रिंग फिंगर और  छोटी उंगली को हथेली पर दबाएं
2) अब इन उंगलियों को अपने अंगूठे के साथ पकड़ें और  जब तक यह आरामदायक लगता है दबाव डालते रहे 
3) इस मुद्रा को  20-30 मिनट तक करे 1
 

5. ज्ञान मुद्रा ( Gyan Mudra in hindi )

gyan-mudra-hindi
ज्ञान मुद्रा
2 इस मुद्रा को ज्ञान का संकेत माना जाता है और यह  तनाव और अवसाद को दूर करने में मदद करती  है । नियमित रूप से अभ्यास करने के साथ यह ध्यान के स्तर को बढ़ाती  है, मानसिक शक्ति बढ़ाती है, अतिरिक्त वजन कम करती है, और मस्तिष्क को तेज करती  है। 
 
यदि आप इसे नियमित आधार पर करते हैं तो क्रोध, तनाव, चिंता और यहां तक कि अनिद्रा जैसे आपके किसी भी मनोवैज्ञानिक विकार में काफी सुधार किया जा सकता है।

ज्ञान मुद्रा को  कैसे करें ( How to do Gyan Mudra in hindi )

1) आराम से बैठ जाये और अपने मन को शांत करे  
 
2) आप बेहतर ध्यान और एकाग्रता के लिए अपनी आंखें बंद कर सकते हैं
 
3) फिर अंगूठे की नोक पर अपनी तर्जनी की नोक को स्पर्श करें
 
4) बाकी उंगलियों को फैलाकर सीधा  रखें
 
5) और फिर कम से कम 15 मिनट के लिए इस स्थिति में ही रहे 2

  1. Written by Kranti Main, Yoga Teacher [][]
  2. Written by Pushkar Agarwal, Founder of CNT [][]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x